उत्तरकाशी ज़िले में वर्चुवल माध्यम से दिशा-निर्देश

Share

उत्तरकाशी ज़िले में वर्चुवल माध्यम से दिशा-निर्देश( Covid 19 Uttarkashi Report) देहरादून प्रदेश के भाषा, पुनर्गठन, गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) तथा कोविड-19 व्यवस्थाओं के प्रभारी मंत्री उत्तरकाशी स्वामी यतीश्वरानन्द द्वारा विधानसभा कक्ष से जिला प्रशासन तथा जनपद स्तरीय अधिकारी उत्तरकाशी की वर्चुवल माध्यम से बैठक लेते हुए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिये।

जिलाधिकारी उत्तरकाशी से जनपद में कोरोना महामारी के संक्रमण की वर्तमान स्थिति, विभिन्न अस्पतालों में इलाज की व्यवस्था, आईसीयू बैड, आक्सीजन बैड से लेकर दवाईयों, चिकित्सा सहायक उपकरणों, एम्बुलेन्स तथा दूरस्थ क्षेत्रों में कोरोना टेस्टिंग और टीकाकरण हेतु तैनात मोबाईल टीमों तथा अन्य मानवीय तथा गैर मानवीय संसाधनों की उपलब्धता की जानकारी प्राप्त की गई। इसके अतिरिक्त यमनोत्री विधायक केदार सिंह रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष उत्तरकाशी प्रदीप बिजल्वाण तथा अन्य स्थानीय प्रतिनिधियों से भी वर्चुवल माध्यम से कोरोना महामारी के उपचार व संसाधनों की वस्तुस्थिति की फिडबैक लेते हुए उनके द्वारा सुझाये गये महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर भी जिला प्रशासन उत्तरकाशी को सज्ञान लेते हुए कोरोना महामारी से निपटने के लिए बेहतर व्यवस्थाएं बनाने के निर्देश दिये।

दूरस्थ क्षेत्रों के लोगो को कोरोना के उपचार हेतु स्थानीय पीएचसी, न्याय पंचायत व ग्राम पंचायत स्तर पर ही ईलाज, आवश्यक दवाईयों, पीपीई किट, आक्सीजन बैड की आपूर्ति, कोरोना टेस्टिंग, वैक्सीन के टीकाकरण की यथासम्भव व्यवस्था करने के निर्देश दिये ताकि दूरस्थ क्षेत्र के लोगो को लाकडाउन जैसे स्थिति में ईलाज हेतु शहर की ओर आने की परेशानी ना उठानी पडे साथ ही आवागमन के चलते सोशल डिस्टेन्सिंग भी बाधित न हो तथा वयोवृद्ध लोगों को लोकल स्तर पर ही टीकाकरण उपलब्ध हो।

विधायक यमुनोत्री केदार सिंह रावत तथा जिला पंचायत अध्यक्ष उत्तरकाशी प्रदीप बिजल्वाण ने भी स्थानीय स्तर पर ही कोरोना के इलाज की व्यवस्था के साथ-साथ टीकाकरण को भी विकेन्द्रियकृत तरीके से सम्पादित करने का सुझाव देते हुए ग्राम पंचायत, न्याय पंचायत व ब्लाक स्तर पर ही सार्वजनिक भवन को कोविड-19 के ईलाज हेतु चिन्हित व स्थापित करने को कहा।


Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!