शिक्षामंत्री बोले मेरी सुरक्षा जरूरी नही हटाये जाए सुरक्षा कर्मी

Share

शिक्षामंत्री बोले मेरी सुरक्षा जरूरी नही हटाये जाए सुरक्षा कर्मी कोरोना संकट के लॉक डाउन से जूझ रहा भारत घरों में सुरक्षित रह रहा है ऐसे में लॉक डाउन के दौरान समाजसेवी संस्थाओं से लेकर पुलिसकर्मी और दूसरे लोग जरूरतमंदों की सहायता के लिए सामने आते हुए नजर आ रहे हैं वहीं उत्तराखंड में ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी भी बखूबी जरूरतमंदों की मदद करते हुए नजर आ रहे हैं उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे ने अपनी सुरक्षा में तैनात सभी पुलिसकर्मियों को कोरोना वायरस की ड्यूटी में तैनात करने के लिए उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक से कहां है उन्होंने राज्य के पुलिस महानिदेशक से अनुरोध किया है कि उनकी सुरक्षा में तैनात सभी पुलिसकर्मियों को कोरोनावायरस की ड्यूटी में लगाया जाए कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे के इस कदम के बाद यह पहला मामला है जब किसी देश के कैबिनेट मंत्री ने अपनी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों को कोरोनावायरस की ड्यूटी में लगाने की बात कही है निश्चित रूप से कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडे की यह बात एक मिसाल के रूप में सामने आई है आपको बता दें उत्तराखंड में पुलिसकर्मियों के तमाम सुरक्षाकर्मी इन दिनों ऐसे लोगों की सुरक्षा में तैनात हैं जो फिलहाल ऐसे वक्त में जरूरत महसूस नहीं करते लेकिन अभी तक किसी भी महानुभाव ने अपनी सुरक्षा में तैनात गनर  वापस भेजने की पहल शुरू नहीं की है लेकिन राज्य के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने अपनी सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों को कोरोनावायरस की ड्यूटी में लगाए जाने का अनुरोध राज्य के पुलिस महानिदेशक से किया है विद्यालयी शिक्षा, संस्कृत शिक्षा, खेल, युवा कल्याण एवं पंचायती राज मंत्री श्री अरविन्द पाण्डेय जी ने प्रदेश पुलिस महानिदेशक से दूरभाष द्वारा वार्ता कर कहा कि मेरी निजी सुरक्षा में कार्यरत सभी पुलिस कर्मियों को तत्काल प्रभाव से कोरोना वायरस के संकट को दूर करने हेतु कार्यों में संलग्न किया जाए।      शिक्षामंत्री बोले मेरी सुरक्षा जरूरी नही हटाये जाए सुरक्षा कर्मी

साथ ही बताया कि सामुदायिक भावना के अनुरूप राष्ट्रीय आपदा के दौरान वर्तमान परिस्थितियों में जितने ज्यादा सहायक हाथ होंगे, उतना ही सहायतार्थ एवं रोकथाम व बचाव के कार्यों में और अधिक सहयोग होगा।


Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!