Bhadas for India is a leading news portal of India with 15 years of media house experience in Dehradun, Uttarakhand.

Share

देहरादून मुख्यमंत्री हरीश रावत ने बीजापुर अतिथि गृह में मीडिया से बात करते हुए कहा कि बिहार में महागठबंधन की जीत पर धर्मनिपरपेक्षता और विकास की प्रहरियों को बधाई है। उन्होंने कहा कि महागठबंधन की पहल सोनिया गांधी जी ने की थी, जिसका परिणाम बिहार में भारी बहुमतों से जीत के सामने आया है। उन्होंने कहा कि लालू यादव और नीतिश यादव को भी बधाई देते है और उनसे अनुरोध करते हुए यूपी में भी इसी प्रकार का महागठबंधन सोनिया जी को आगे रखते हुए बनाये। उन्होंने कहा कि बिहार मंे महागठबंधन को जो जीत मिली है, उसके लिए बिहार की जनता बधाई की पात्र है। उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी जी के नेतृत्व में यूपी में भी ऐसी पहल करनी होगी, ताकि यूपी जो अंधा मोड़ पर है, उससे बाहर निकल पाये। मैं यूपी के प्रति भी आशावान हूं कि वहां पर भी ऐसा ही कुछ देखने को मिलेगा। यूपी आगे बढेगा तो देश आगे बढेगा और उत्तराखण्ड को भी उसका लाभ मिलेगा।
फंडिंग पैटर्न पर पूछे गये सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि अभी तक आधिकारित तौर पर ऐसी कोई सूचना मुख्य सचिव को नही मिली है। विस्तृत जानकारी प्राप्त होने पर ही कुछ कहा जायेगा। लेकिन यदि केन्द्र सरकार द्वारा फंडिंग पैटर्न में बदलाव को लेकर कोई निर्णय लिया गया है, तो उसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी बधाई के पात्र है। उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि उत्तराखण्ड को जिस प्रकार से पूर्व की भांति केन्द्रीय योजनाओं में सहायता मिलती थी, उसी अनुरूप फंडिंग पैटर्न में हुए बदलाव के बाद भी मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्य को पेयजल, पी.एम.जी.एस.वाई, आर.के.वाई, पर्यटन, एन.एफ.एस.ए., आदि योजनाओं में अधिक सहायता की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पेयजल योजनाओं मेें पूर्व की भांति ही सहायता मिलनी चाहिए। इसी प्रकार से पी.एम.जी.एस.वाई योजना में भी राज्य को कोई कटौती की गई है, जिसकी भरपाई केन्द्र द्वारा की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि 300 से अधिक प्रस्ताव आॅनलाइन है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा जो निर्णय लिया है, उसके लिए वे स्वयं प्रधानमंत्री के पास जाकर प्रदेश की जनता की ओर से धन्यवाद ज्ञापित करेंगे। उन्होंने भाजपा के सांसदो से भी अपील की कि वे नकारात्मक राजनीति करने के बजाय, राज्यहित के मुद्दों को केन्द्र में प्रभावी ढंग से उठाये।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि नीति आयोग द्वारा जो मानक बनाये गये है, उनके अनुसार राज्य पूरी तरह से तैयार है। राज्य सरकार ने नये क्षेत्र चिन्हित किये है, जिसका परिणाम यह रहा है कि लगभग 1000 करोड़ रुपये के राजस्व वृद्धि होगी। जिसका असर अगले 10 से 15 साल में दिखने को मिलेगा। मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि मनमोहन सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि आर.के.वी.वाई योजना रही है। इस योजना से नार्थ ईस्ट व मध्य प्रदेश जैसे राज्य कृषि के क्षेत्र में आत्म निर्भर हुए है।
मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी के उत्तराखण्ड भ्रमण से पूरे देश में सांस्कृतिक उत्तराखण्ड का संदेश गया है। जागेश्वर से संस्कृति का उद्घोष हुआ है।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *