हरीश रावत ने क्यों मांगी माफ़ी

Share

देहरादून उत्तराखंड में कांग्रेस की जीत को प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने लोकतंत्र की जीत करार दिया है राज्यसभा सीट जीत जाने के बाद मीडिया से बात करते हुए हरीश रावत ने कहा की राज्य की जनता की बदौलत इस जीत को जीता जा सका है इसलिए इस जीत के किसी राजनैतिक जीत हार के रूप में नहीं देखा जाना चाइये उन्होंने कहा की राज्य की जनता ने जिस विश्वास के साथ राज्य सभा के लिए प्रदीप टम्टा को भेजा है उस पर वो कितना खरा उतर पायेगे इस को साबित किये जाने की जिम्मेदारी प्रदीप टम्टा के ऊपर है हरीश रावत ने ये भी कहा की राज्य के विकास के लिए भाजपा को साथ में आकर राज्य के विकास में अपना सहयोग प्रदान करना चाहिये लेकिन भाजपा राज्य में जिस तरह का राजनैतिक माहोल को ख़राब किये जाने का प्रयोग का किया गया वो राज्य हित में सही नहीं था उन्होंने राज्य के विकास के लिए भाजपा को जहा आगे आने की सलाह दी है वही ये भी कहा की अगर उन से मुख्यमंत्री पद पर रहते हुए कोई गलती हुई है तो वो अपनी गलती के लिए माफ़ी मांगते है

हरीश रावत का ये बयान जहा भाजपा के लिए एक विकास को आगे ले जाने वाला बयान है वही इस बयान को राजनैतिक रूप से राज्य के विकास के साथ जोड़ कर देखा जा रहा है उत्तराखण्ड में विकास के लिए अभी राज्य सरकार को केंद्र सरकार से धन के लिये कई तरह की मदद की जरुरत है लेकिन अभी तक राज्य सरकार को केंद्र सरकार से धन नहीं मिल पाया है


Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!