महाकुम्भ 2021 की तैयारी कुछ इस तरह हुई शुरू

Share

महाकुम्भ मेला 2021 हरिद्वार के सफल आयोजन के लिये उत्तराखण्ड के नगर विकास मंत्री मदन कौशिक ने रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ नई दिल्ली, उद्योग भवन में बैठक की। बैठक में रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि प्रयाग मेला-2019 से अधिक सुविधाये हरिद्वार मे होने वाले महाकुम्भ-2021 में उपलब्ध कराई जायेगी।
बैठक में महाकुम्भ मेला की विशेष परिस्थितियो को देखते हुये हरिद्वार लाल पुल के समीप रेलवे ओवर ब्रिज की स्वीकृति प्रदान की गयी। इसके अतिरिक्त ऋषिकेश-हरिद्वार डबल लेन बनाने पर स्वीकृति प्रदान करते हुये फास्ट टैक सर्वे करने का निर्देश दिया गया। बैठक में देहरादून, लक्सर और हरिद्वार के बीच 10 मिनट के अन्तराल में शटल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया गया। बैठक में वरिष्ठ रेलवे अधिकारी नीरज शर्मा को नोडल अधिकारी कुम्भ मेला अधिकारी-2021 के लिये नामित करते हुए महाकुम्भ मेला के कार्यों में समन्वय हेतु महाकुम्भ मेला की प्रत्येक बैठक में प्रतिभाग करने का निर्देश दिये गये। इसके अतिरिक्त मेला प्रशासन एवं रेलवे से समन्वय करने हेतु रेलवे बोर्ड के अधिकारी और मेला प्रशासन के बीच समन्वय समिति भी स्थापित की जायेगी।
बैठक में केन्द्रीय रेलवे मंत्री पीयूष गोयल ने 17 सितम्बर, 2019 को संयुक्त निरीक्षण करने एवं 23 सितम्बर, 2019 हरिद्वार में रेलवे अधिकारी एवं मेला प्रशासन को समन्वय बैठक करने के लिये निर्देशित किया गया।
बैठक के दौरान नगर विकास मंत्री मदन कौशिक ने केन्द्रीय मंत्री श्री पीयूष गोयल को बताया कि महाकुम्भ मेला, हरिद्वार, 2021 में क्राउड मैनेजमेंट और बेहतर यातायात प्लान के तहत श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधा पर विशेष फोकस किया जाएगा। इसके लिए कुम्भ मेलाधिकारी ने अपनी टीम के साथ निरीक्षण कर अपनी रिपोर्ट में बताया है कि हरिद्वार रेलवे स्टेशन पर पुरूषार्थी मार्केट से निर्मला छावनी और प्लेटफार्म न. 01 से रेलवे रेस्ट हाउस पर फुट ओवरब्रिज की आवश्यकता है। इसके अतिरिक्त ऋषिकेश रेलवे स्टेशन, ज्वालापुर, रायवाला एवं मोतीचूर पर भी 01-01 फुट ओवरब्रीज की आवश्यकता है। रेलवे स्टेशन रायवाला, लक्सर, ज्वालापुर फाटक, टिबड़ी फाटक पर अंडर पास की आवश्यकता है। इसके अतिरिक्त महत्वपूर्ण रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म, शौचालय बनाने की आवश्यकता है।
उन्होनें केन्द्रीय मंत्री से कहा कि यात्रियों की सुरक्षाएवं सुविधा के लिये पूरे मेले क्षेत्र मे सेक्टरध्थानाध्खोया-पाया केन्द्र में टिकट बुकिंग काउन्टर भी बनाया जायेगा एवं कुम्भ क्षेत्र के समस्त रेलवे स्टेशनो पर मल्टी लाईट डिस्पले लगाई जायेगी। उपरोक्त तत्थों पर बैठक में सहमति दर्शायी गयी।
इस अवसर पर सचिव नगर विकास शैलेश बगोली, मेला अधिकारी दीपक रावत, मेला आईजी संजय गुन्जयाल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खण्डूरी, पुलिस अधीक्षक मनोज कत्याल, मेला ओ0एस0डी महेश शर्मा मौजूद थे।
इसके अतिरिक्त उत्तराखण्ड के नगर विकास मंत्री मदन कौशिक ने केन्द्रीय जहाजरानी राज्य मंत्री(स्वतंत्र प्रभार) मनसुख मांडविया से मुलाकात की।
केंद्रीय राज्य मंत्री ने कहा कि ऋषिकेश से हरिद्वार मेला अवधि के लिये वाटर एम्बुलेंस चलाई जायेगी एवं फ्लोंटिग डिवाइस प्लेटफाॅर्म स्नान की सुविधा हेतु स्थापित होगा। खोज एवं बचाव दल के सोनार पद्वति से चित्र लेने वाला डिवाइस लगेगा। जिसके लिये सीएसआर के माध्यम से मदद की जायेगी। उन्होने कहा कि एक सप्ताह में मेला अधिकारी और टीम के साथ जहाजरानी के केन्द्रीय मंत्रालय के अधिकारी बैठक करेगें।

Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!