मीडिया में फ्री का चन्दन घीस मेरे नंदन

Share

मीडिया में फ्री का चन्दन घीस मेरे नंदन देहरादून बचपन में गली के लफंडर खाने के लिए शादी में बिना बुलाये पहुंच कर फ्री का खाना खाकर सटक लेते थे उनका रोज़ाना यही काम रहता था हर बिना बुलाई शादी में वो अच्छे कपडे पहना कर पहुंच जाते थे कुछ इसी तरह का कारनामा देहरादून में लम्बे समय से अंजाम देने वाले एक मीडिया ग्रुप का बना हुआ है जिसके समाचार आज तक कभी अपने पड़े या देखे नहीं होंगे लेकिन उनकी सूरत साल भर में आयोजित होने वाले मीडिया कर्मियों के ऐसे आयोजनों पर नज़र जरूर आती है जो बिना बुलाये मेहमान बनकर आयोजन कर्ताओं के लिए सिरदर्द बन जाते है चलिए आज आपको दीपवाली के अवसर पर ऐसे ही एक खबर का पूरा सच बता देते है

देहरादून उत्तराखंड में क्या हर जगह ऐसे लोग मिल जायेगे जो बिना बुलाये पहुंच ही जाते है ऐसे लोगो के कारण आयोजनकर्ता को जहाँ बुलाये गए लोगो के हिसाब से इंतज़ाम पर ऐसे लोग भारी पड़ जाते है जो फ्री का चन्दन घीस मेरे नंदन की तरफ मोके पर पहुंचे होते है कुछ इसी तरह का नज़ारा आज देहरादून में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट द्वारा अपने आवास पर मीडिया कर्मियों के लिए दीपावली पर सहभोज का आयोजन किया गया था लेकिन यहाँ पर भी कई ऐसे मीडिया की हाथो में माइक आईडी बनाकर बिना बुलाये मेहमान बनकर पहुंचे गए जिसके बाद यमुना कॉलोनी में बुलाये गए पत्रकारों के बीच उनकी जुटी हुई भीड़ को लेकर चर्चा तेज हो गई लेकिन मजाल है जो बिना बुलाये मेहमान बनकर पहुंचे कई खबर वाले दीपवाली गिफ्ट को लेकर काफी समय तक मोके पर जुटे रहे

ये भी पढ़े: प्रकाश पंत का राजनैतिक दीपकपुंज

लेकिन सवाल ये भी उठ रहा है आखिर ऐसे लोग मोके पर कैसे पहुंच जाते है जिनको बुलाया नहीं जाता और ना ही उनकी कोई खबर कही पर नज़र आती है देहरादून में ऐसे ही एक ग्रुप की चर्चा दीपावली अवसर पर आयोजित बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के आवास पर कार्यक्रम में पत्रकारों की बीच होती हुई नज़र आई हुआ कुछ इस तरह आयोजनकर्ता ने अपने आवास पर दीपावली अवसर पर हर साल आयोजित किये जाने वाला कार्यक्रम रखा हुआ था जिसमे मीडिया कर्मियों को आमंत्रित किया गया था जहाँ पर मीडिया कर्मियों के आलावा एक ऐसा ग्रुप भी पंहुचा गया जो हमेशा बड़े बड़े आयोजन या ऐसे आयोजनों पर अपनी नज़र रखता है जहाँ पर मीडिया कर्मियों को बुलाया जाता है उनकी सूरत सिर्फ ऐसे बड़े आयोजनों पर नज़र आती है खबर का कही भी कोई अता पता नहीं होता भड़ास फॉर इंडिया को देहरादून में आयोजित इस पूरी कहानी के बारे में कई पत्रकारों ने बताया जिसके बारे में कई ऐसी बातें भी पता चली है जिनके बारे में अगली खबर में आपको उनकी दूसरी कहानी के बारे में बताया जायेगा

Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!