Bhadas for India is a leading news portal of India with 15 years of media house experience in Dehradun, Uttarakhand.

Share

जौलजीबी मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा आज प्रसिद्व ऐतिहासिक एवं व्यपारिक मेले का विधिवत उद्घाटन किया गया। उद्घाटन अवसर पर सभी को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री श्री रावत ने कहा कि इस प्रकार के मेेले हमारी आकांक्षा रही है। मेले की वजह से हम पूर्व में संवाद करते थे। उन्होंने कहा कि मुझे इस बात की खुशी हो रही है कि वर्ष 2013 की आपदा में जौलजीबी मेला स्थल जो आपदा की भेंट चढ़ गया था। हम उसे पुर्नजीवित कर इतने भव्य एवं विकसित रूप में ला पाये है। उन्होंने कहा कि हमें जौलजीबी के उसी महत्व की पूर्ति करनी है हमने कुछ कदम इस और आगे बढ़ाये है इन्हें और अधिक आगे ले जायेंगे।
उन्होंने कहा कि सीमांत क्षेत्र के विकास हेतु इस वर्ष डेढ़ दर्जन सड़कों में कार्य किया जा रहा है तथा अगले तीन वर्षों में क्षेत्र के जो गांव सड़क से छूट जायेंगे उन गांवों को सड़क से जोड़ा जायेगा, मुनस्यारी से लेकर कुटी तक विकास के अनेक कार्य कराये जा रहे है। राज्य सरकार द्वारा क्षेत्र में दूरगामी परिणामों के भी कार्य कराये जा रहे है जिसमें पण्डित नैन सिंह पर्वतारोहण संस्थान जो मुनस्यारी में खोला गया है उस क्षेत्र के विकास में अग्रसर होगा उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि क्षेत्र के गर्म पानी के झरनों को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है ताकि क्षेत्र के नौजवानों को रोजगार मिल सकें।
उन्होंने कहा कि उं पर्वत एवं छोटा कैलाश की यात्रा प्रारम्भ की गयी है जिसमें 500 पर्यटकांे द्वारा इस वर्ष यात्रा की गयी कैलाश मानसरोवर यात्रा की तर्ज पर उं पर्वत तथा छोटा कैलाश यात्रा को भी प्रारम्भ कराया जा रहा है। पर्यटकों को प्राकृतिक सौंदर्य के दर्शनों के साथ ही मिलम ग्लेशियर को भी खोले जाने हेतु कार्य किया जा रहा है इसी क्रम में हिमालय दर्शन यात्रा भी शुरू करायी जा रही है।
उन्होंने क्षेत्र के लोक गायक एवं लोक वादक स्व0 झुसिया दमायी को याद करते हुए कहा कि यहां का नगाड़ा ऐतिहासिक नगाड़ा है इस प्राचीन संस्कृति को आगे बढ़ाने हेतु कार्य किया जायेगा। उन्होंने पहाड़ कि महिलाओं के द्वारा किये जाने वाले परिश्रम की सराहना करते हुए कहा कि महिलाओं की शिक्षा को बढ़ाने हेतु कार्य किया जा रहा है अगर महिलायें दक्ष होगी तो उन्हें रोजगार के पूर्ण अवसर उपलब्ध करायें जायेंगे।
प्रदेश में प्रत्येक योग्य, दक्ष्य व्यक्ति को सरकार कार्य देगी तथा सरकार द्वारा हर क्षेत्र में अनेक नौकरियां खोली जा रही है। मुख्यमंत्री नेे अपने संबोधन में देश के प्रथम प्रधानमंत्री पण्डित जवाहर लाल नेहरू की जयंती पर उन्हें भावपूर्ण स्मरण किया उन्होंने कहा कि पण्डित नेहरू द्वारा देश में विकास हेतु जो दूरदर्शिता रखकर विकास की कल्पना के साथ ही जो नींव रखी थी उसी की बदौलत देश आज विकास के क्षेत्र में उड़ान भर रहा है। उन्होंने कहा कि पाण्डित नेहरू बच्चों से विशेष लगाव रखते थे बच्च्ेा उन्हें चाचा नेहरू के नाम से बुलाते थे।
इस अवसर पर वन विकास निगम के अध्यक्ष हरीश धामी ने संबेाधित करते हुए कहा कि क्षेत्र के विकास हेतु प्रदेश सरकार द्वारा अनेक कार्य करायें जा रहे है उसी के परिणाम स्वरूप आज हमें वर्ष 2013 की आपदा में पूर्ण रूप से ध्वस्त हुये जौलजीबी मेले स्थल को नये रूप में देख रहे है।
इस अवसर पर प्रदेश सीमांत विकास परिषद् के उपाध्यक्ष जय सिंह दानू, राज्य जनजाति आयोग के उपाध्यक्ष कैलाश रावत, विधायक पिथौरागढ़ मयूख महर, अध्यक्ष जिला पंचायत प्रकाश जोशी, क्षेत्र प्रमुख धारचूला नेत्र सिंह कुवंर, सीडीओ विनोद गोस्वामी, नगर व्यापार अध्यक्ष धारचूला दौलत पाल, नगर व्यापार अध्यक्ष जौलजीबी धीरेन्द्र धर्मशक्तू, कांगे्रस जिलाध्यक्ष मुकेंश पंत समेत विभिन्न क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक आदि उपस्थित थे। इससे पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा मेले में विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये प्रर्दशनी एवं संयत्रांे का भी उद्घाटन किया।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *