जनभावनाओं की राजधानी गैरसैण में भाजपा के हिंसक आचरण से शर्मशार उत्तराखंड

Share

गैरसैण के इतिहास में जो हुआ उस की कल्पना इस राज्य की जनता ने कभी भी नहीं की होगी भाजपा का गैरसैण की विधानसभा में किया गया अपमान इस राज्य की महिलओं के साथ साथ गैरसैण की भावनओं पर भी हमला है राज्य के इतिहास में हुई ये घठना गैरसैण की भावना को इतना आघात पंहुचा गयी है की भाजपा को इस बर्ताव के लिए राज्य की जनता से माफी मांगनी पड़ सकती है गैरसैण की विधानसभा में भाजपा नियम ३१० के तहत गैरसैण के मुद्दे को लेकर चर्चा करवाने के लिए हंगामा कर रही थी विधानसभा अद्यक्ष ने गैरसैण पर चर्चा को नियम ५८ में सुन लेने की बात कर दी थी लेकिन भाजपा इस के बाद भी अपनी राजनैतिक हंगामे बाज़ी को लेकर सदन में हंगामा करती रही हंगामा इतना बड़ गया की गैरसैण में भाजपा विधयाको ने सदन के अंदर विधानसभा अद्यक्ष, नेता सदन ,के ऊपर सत्र की कारवाही को फाड़ कर फेक दिया इतना ही नहीं भाजपा विधयाको ने सदन के अंदर कुर्सियों पर ऊपर चढ़ कर गैरसैण की भावना का ही मजाक उडा दिया जनभावनाओं की राजधानी गैरसैण में भाजपा का उठाया गया कदम अब उल्टा पड़ गया है और प्रदेश भर में भाजपा के खिलाफ आंदोलन का बिगुल बज गया है गैरसैण में भाजपा का किया गया आचरण पर बोलते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा की अपने अब तक के संसदीय जीवन में इस तरह का आचरण नहीं देखा है और गैरसैण में भाजपा ने जो किया उस से मन बहुत दुखी है जब की सरकार हर बात पर चर्चा को तैयार थी और सदन को पांच तक चलाने के लिए अपनी तैयारी कर चुकी थी लेकिन भाजपा ने सदन की गरिमा को गैरसैण में जिस तरह ठेस पहुचने का काम किया है जो किसी भी रूप में स्वीकार नहीं किया जा सकता सरकार गैरसैण में सदन को जनहित के साथ साथ कई मुद्दो पर चर्चा को भी तैयार थी लेकिन भाजपा ने पूरी गैरसैण की भावना को एक हिंसा का रूप देने का काम किया जो साबित करता है की भाजपा सिर्फ हंगामे की तैयारी कर गैरसैण में आई थी गैरसैण में भाजपा का किया गया आचरण भाजपा के लिए नयी मुसीबत बन गया है


Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!