गाने की लांचिंग तो बहाना है हरदा को मुख्यमंत्री बनाना है

Share

गाने की लांचिंग तो बहाना है हरदा को मुख्यमंत्री बनाना है: हल्द्वानी में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को 2022 विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री का प्रबल दावेदार घोषित करने की मुहीम में जुटे हरदा कैंप का नया निशाना सामने आया है इस बार उत्तराखंड की सियासत में गाने को आधार बना कर राजनैतिक मुकाम तक जाने का खाका तैयार किया गया है ऐसे में हरदा को लेकर राजनैतिक गलियारों में चर्चा तेज हो रही है उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पूर्व में प्रीतम सिंह इंद्रा ह्रदेश को मुख्यमंत्री का चेहरा घोषित किये जाने की बात कह चुके है लेकिन कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी योगेंद्र यादव उत्तराखंड में सामूहिक नेतृत्र्व में चुनाव लड़ने की बात कह कर हरदा समर्थको के अरमानो पर पानी फेर चुके है।

गाने की लांचिंग तो बहाना है हरदा को मुख्यमंत्री बनाना है

ये खबर भी पढ़े: मुख्यमंत्री 2022 किशोर नाम की माला जपते हरदा

कांग्रेस उत्तराखंड में प्रीतम सिंह का नेतृत्व पूर्व में ही हरदा कैंप नकार चूका है ऐसे में साफ समझा जा सकता है उत्तराखड की सियासत में हरदा को राजनैतिक तरफ से उनका कैंप पूरी तरह प्रमोट करने में जुट गया है हल्द्वानी में आयोजित हरदा पर बना वीडियो गीत उनकी तारीफ में कसीदे गड़ने सरीखे है इस गीत के माध्यम से हरीश रावत को उनके कैंप के लोग प्रमोट करने में जुटे हुए है ऐसे में कांग्रेस का दूसरा कैंप हरदा को स्वीकार नहीं करने में ज़ोर लगता नज़र आ रहा है देखना होगा इस आपसी लड़ाई में आखिर जीत किसको मिलती है जो वक्त की डिमांड भी है।

लोक गायिका माया उपाध्याय द्वारा गाए वीडियो गीत को गुरुवार हल्द्वानी के एक बैंक्वेट हाल में लांच किया जाएगा। हरदा के करीब पूर्व स्पीकर गोविंद कुंजवाल की अध्यक्षता में यह कार्यक्रम होगा। गीत के बहाने हरदा गुट के लोग पूर्व सीएम को विधानसभा चुनाव २०२२ के लिए पार्टी का चेहरा घोषित करने की लांबिंग में जुटे हैं। कार्यक्रम की जिम्मेदारी हरीश रावत बिग्रेड, हरीश रावत एक विचार, दलित शोषित उत्थान समिति, हरीश रावत एक सोच व काफल कुमाऊं चैप्टर जैसे संगठनों पर है। प्रदेश नेतृत्व व प्रदेश प्रभारी के सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लडऩे की बात कहने के बावजूद हरदा खेमा उनके नाम को लेकर अड़ा हुआ है।


Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!