राज्य स्थापना दिवस से डिजिटल उत्तराखंड का आगाज़

Share

हिमांशु पैन्यूली
राज्य स्थापना दिवस से डिजिटल उत्तराखंड का आगाज़ : देहरादून राज्य में नया आगाज़ शुरू होने जा रहा है समय के साथ कदम ताल करता उत्तराखंड भी हाई टेक हो जाएगा डिजिटल उत्तराखंड के इस नए कदम से जहा सरकारी समय की बचत होगी वही काम करने की कार्य शैली में भी परिवर्तन होगा
राज्य स्थापना दिवस नौ नवम्बर से ‘डिजिटल उत्तराखंड’ का आगाज किया जायेगा। अगले छः महीने में उत्तराखंड सचिवालय ई-आॅफिस में तब्दील हो जायेगा। सूचना प्रौद्योगिकी विकास एजेंसी (आईटीडीए) का गठन नये प्रोफेशनल संगठन के रूप में किया जायेगा। ये निर्णय मुख्य सचिव राकेश शर्मा ने शुक्रवार को सचिवालय में आईटीडीए के सामान्य प्रबंध समिति की अध्यक्षता करते हुए लिये।
मुख्य सचिव ने कहा कि सूचना प्रौद्योगिकी भवन बनकर तैयार हो गया है। डाटा सेंटर स्थापना का कार्य चल रहा है। स्टेट डाटा सेंटर में ही सभी विभाग के सर्वर होस्ट होंगे। उन्होंने निर्देश दिये कि डिजिटल उत्तराखंड के तहत प्रदेश के अंतिम छोर तक क्षैतिज और उध्र्वाधर कनेक्टिविटी उपलब्ध कराई जोयगी। अगले छः महीने में सचिवालय में पेपरलेस आॅफिस व्यवस्था लागू हो जोयगी। सभी कार्यालयों की नेटवर्किंग हो जायेगी। पूरा सचिवालय परिसर वाई फाई जोन हो जायेगा। ब्लाॅक स्तर तक वीडियो कांफ्रंेसिंग की सुविधा उपलब्ध हो जायेगी। लैंड रिकार्ड डिजिटल हो जायेंगे।
श्री शर्मा ने कहा कि डिजिटल उत्तराखंड के लिए जरूरी है कि आईटीडीए को नये आधुनिक स्वरूप में लाया जाय। सामान्य प्रबंधन समिति (गवर्निंग बाॅडी) ने वर्तमान आईटीडीए को भंग कर पुनर्गठन का निर्णय लिया। प्रस्तावित आईटीडीए में मुख्य सचिव, चेयरमैंन, सचिव आईटी, वाइस चेयरमैन, अपर सचिव आईटी सीईओ होंगे। इसके अलावा एक एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर, चार जनरल मैनजर, चार डिप्टी जनरल मैनेजर और सभी जनपदों में असिस्टैंट जनरल मैनेजर होंगे। सभी अधिकारियों के साथ डाटा इंट्री आपरेटर और मल्टी पर्पज वर्कर भी होंगे।
बैठक में सचिव आईटी दीपक कुमार, सचिव वित्त एम.सी. जोशी सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य भूपेंदर कौर औलख, अपर सचिव आईटी अरूणेन्द्र सिंह चैहान, निदेशक शिक्षा आर.के. कुंवर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!