स्टिंग मामले पर पत्रकार के खिलाफ मुकदमा दर्ज देखे क्या है मामला

Share

स्टिंग मामले पर पत्रकार के खिलाफ मुकदमा दर्ज देखे क्या है मामला
स्टिंग का कारोबार राजनीती के गठजोड़ की काली पायदान का सिर्फ एक नमूना भर है यही वजह है भारत में स्टिंग का कारोबार लगातार बढ़ता जा रहा है सामजिक हित में इसका उपयोग तो सही है लेकिन ब्लैक मेलिंग इस स्टिंग का मुख्या कारोबार बन गया है ऐसे ही एक मामले में पत्रकार के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है
सेना में ब्रिटिशकालीन सहायक प्रणाली (बडी सिस्टम) को उजागर करने के लिए केरल के जवान रॉय मैथ्यू का स्टिंग करने के आरोप में एक न्यूज पोर्टल की महिला पत्रकार के खिलाफ आधिकारिक गोपनीयता कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है। रॉय मैथ्यू इस माह की शुरुआत में मृत मिले थे।देवलाली छावनी पुलिस स्टेशन में सोमवार रात दिल्ली की महिला पत्रकार पूनम अग्रवाल के खिलाफ उक्त कानून की धारा 3 (जासूसी) और 7 (केंद्रीय सशस्त्र बलों के सदस्यों या पुलिस अधिकारियों के कामकाज में हस्तक्षेप) के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस स्टेशन के प्रभारी विनायक लोकारे ने बताया कि महिला पत्रकार और एक पूर्व सैन्य अधिकारी दीपचंद पर सैन्य नियमों का उल्लंघन कर 24 फरवरी को बिना अनुमति प्रतिबंधित देवलाली सैन्य छावनी क्षेत्र में घुसने और वहां फिल्मांकन करने का मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि स्टिंग ऑपरेशन के दौरान कथित रूप से रॉय मैथ्यू और अन्य जवानों से प्रमुख सवाल पूछने वाली पूनम अग्रवाल ही थीं। उनके खिलाफ सेना की ओर से दी गई शिकायत पर भारतीय दंड संहिता (आइपीसी) की धारा 306, 451, 500 और 34 के तहत भी केस दर्ज किया गया है।


Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!