हाईस्कूल टॉपर की गजब कहानी

0
631
Share

Donate To Bhadas4india

प्रिय पाठक, Bhadas4india चलता रहे और आपको इसी तरह से खबरें मिलती रहें। इसके लिए आप से आर्थिक मदद की दरकार है। नीचे दी गयी प्रक्रिया के जरिये 100, 200 और 500 से लेकर इच्छा मुताबिक कोई भी राशि देकर इस काम को आप कर सकते हैं-संपादक।

Donate Now

PayTm and Google Pay: 9837261570

हाईस्कूल टॉपर की गजब कहानी:  गदरपुर। वह हौसलों की उड़ान उड़ना चाहती है उसकी उम्मीद है बहुत अधिक है उसकी मेहनत का ही नतीजा है कि आज वह अपने माता-पिता का नाम रोशन करने के साथ-साथ क्षेत्र में एक मिसाल बनती हुई नजर आएगी.

हाईस्कूल बोर्ड की परीक्षा में गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली इस लड़की की कहानी कुछ अलग ही है वह आईएएस अफसर बनना चाहती है. अगर इस परिवार की बात करें तो परिवार बेहद गरीब है किताबों को पढ़ने के लिए इस लड़की के पास पैसे तक नहीं होते थे.

हाईस्कूल टॉपर की गजब कहानी

लेकिन आप इस लड़की को देखकर अंदाजा लगा सकते हैं इसमें कैसे अपने पढ़ाई के जुनून को जारी रखा और नतीजा अब उसके सामने है

हाईस्कूल बोर्ड की परीक्षा में 18 नंबर पर इस लड़की ने मुकाम हासिल किया है जो अब आगे चलकर आईएएस अफसर बनना चाहती है.

गदरपुर। उत्तराखंड हाईस्कूल बोर्ड परीक्षा में राजकीय बालिका इंटर कॉलेज गदरपुर में अध्ययनरत आजादनगर, वार्ड नं.10 पुनियानी गली में रहने वाली अलीशा ने प्रदेश में अट्ठारवां स्थान प्राप्त कर अपने नगर, विद्यालय एवं माता पिता के नाम को रोशन किया है।

अलीशा ने उत्तराखंड हाईस्कूल बोर्ड परीक्षा में 500 में से 473 अंक प्राप्त किए। गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली अलीशा के पिता याकूब अली सिलाई का कार्य करते हैं।

स्कूल के अलावा अलीशा अपनी पढ़ाई में 6 घंटे का अतिरिक्त समय दिया करती थी, जिसके सामने आर्थिक तंगी होने के चलते नई पुस्तकें तक खरीद पाना भी मुश्किल था।

अपनी मेहनत, प्रतिभा और कुशाग्रता के बूते अलीशा ने उत्तराखंड हाईस्कूल बोर्ड परीक्षा के परिणाम में 94. 6 प्रतिशत अंक हासिल किए। अलीशा को मिली सफलता से वार्ड सभासद संजीव झाम, प्रधानाचार्य माया चनयाना सहित सभी अध्यापीकाओं ने अलीशा के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए बधाई दी है।

वहीं, उत्तराखंड हाइस्कूल बोर्ड परीक्षा में प्रदेश में 18 स्थान प्राप्त करने पर अलीशा के परिजनों में भी खुशी की लहर बनी हुई है। अलीशा को मिली सफलता पर वार्ड सभासद सहित तमाम लोगों ने उनके आवास पर पहुंचकर बधाई दी और अलीशा के उज्जवल भविष्य की कामना की। अलीशा ने अपनी सफलता का श्रेय राजकीय बालिका इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्य माया चनयाना एवं अन्य अध्यापिकाओं के अलावा अपने माता पिता को दिया है। अलीशा अपनी पढ़ाई को पूरा करके आईएएस अफसर बनाना चाहती है।

Bhadas 4 India देश के प्रतिष्ठित और नं.1 मीडियापोर्टल की हिंदी वेबसाइट है। भड़ास फॉर इंडिया.कॉम में हमें आपकी राय और सुझावों की जरुरत हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें [email protected] पर भेज सकते हैं या हमारे व्हाटसप नंबर 9837261570 पर भी संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज Bhadas4india भी फॉलो कर सकते हैं।

Share