यूनाइट टू फाइट कोरोना जंग में शपथ लेकर बनाएं अपनो की चैन

यूनाइट टू फाइट कोरोना जंग में शपथ लेकर बनाएं अपनो की चैन :कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई जीतने की भी शपथ आपको भी लेनी जरुरी है ताकि इस सक्रमण को पूरी तरह रोका जा सके उत्तराखंड सरकार के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जनता से अपील करते हुए सावधानी पूर्वक दो गज की दुरी यूनाइट टू फाइट कोरोना की शपथ ली है अगर आप भी कोरोना के खिलाफ इस जंग में जुड़ना चाहते है तो आपको भी इस फाइट का हिस्सा बनने के लिए आपको को इस मुहीम से जोड़े जाने की जरुरत महसूस करनी पड़ेगी।

ये खबर भी पढ़े :उत्तराखंड सरकार के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र की प्रतिज्ञा

यूनाइट टू फाइट कोरोना जंग में शपथ लेकर बनाएं अपनो की चैन

यूनाइट टू फाइट कोरोना जंग में शपथ लेकर बनाएं अपनो की चैन

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु जन जागरूकता अभियान के तहत विधायकगणों एवं अधिकारियों को प्रतिज्ञा/शपथ दिलाई। उन्होंने कोविड-19 से बचाव हेतु कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए सावधानियां बरतने, कोविड से जुड़े आचार व्यवहार का अनुसरण करने और दूसरों को भी इसके लिए प्रोत्साहित करने की शपथ दिलाई। मास्क, फेस कवर पहनने एवं दूसरों से 02 गज की दूरी बनाकर रखने, नियमित रूप  से साबुन और पानी से हाथ धोने, कोविड के लक्षण महसूस होने पर तत्काल चिकित्सा सलाह लेने एवं मिलकर कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई जीतने की भी शपथ दिलाई।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि जनप्रतिनिधयों, अधिकारियों एवं कार्मिकों को कोराना से बचाव के लिए जन जागरूकता पर विशेष ध्यान देना होगा। त्योहारों एवं शीतकाल का समय शुरू होने वाला है। इसके दृष्टिगत मास्क की अनिवार्यता, सोशल डिस्टेंसिंग एवं स्वच्छता से सबंधित नियमों के पालन के लिए व्यापक स्तर पर जागरूकता जरूरी है। सर्दी के समय में कोविड से बचाव के लिए और सतर्कता की जरूरत है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि जब तक राज्य में कोविड पूर्ण रूप से समाप्त नहीं होता, तब तक जन जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। उन्होंने कहा कि यदि किसी को कोविड के कोई लक्षण दिखाई दे,तो शीघ्र इसकी सूचना टोल फ्री नम्बर या स्वास्थ्य विभाग को दी मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि सुरक्षात्मक उपायों से इस बीमारी से लड़ा जा सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन एवं स्वास्थ्य विभाग की गाईडलाईन का पूरा पालन जरूरी है। अधिकारी बैठकों को अधिकतम वर्चुअल माध्यम से करें। सतर्कता से राज्य में कोविड संक्रमण की दर में कमी आयी है, लेकिन इस समय किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाय।

Share on Social Media

Leave a Comment