मिशन २०१७ पर बोले उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष ,बचेंगे तो लड़ेंगे

Share

मिशन २०१७ पर बोले उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष ,बचेंगे तो लड़ेंगे
तो क्या हरदा की राजनैतिक माइलेज बनेगी उत्तराखंड भाजपा का अभिशाप

नारायण परगाई
देहरादून रामनगर में भाजपा जहा उत्तराखंड सत्ता में वापिसी को लेकर मंथन कर रही थी वही भाजपा के प्रदेश अद्यक्ष ,बचेंगे तो लड़ेंगे का नारा, बोल रहे थे इस नारे को लेकर भाजपा में जहा मिशन २०१७ का करंट धीमा पड़ गया वही ये चिंतन भी उजागर हुआ की भाजपा में कही न कही विरोध का बिगुल अभी भी बरकरार है और वर्तमान मुख्यमंत्री हरीश रावत का खौफ भाजपा में साफ़ तोर से देखा जा रहा है भाजपा प्रदेश अद्यक्ष के ये नारा कही न कही चुनावी नोक को मझदार में छोड़ जाने की तरफ इशारा करता नज़र आ रहा है यही नहीं बैठक में सत्ता वापिसी की तरफ आने को लेकर भाजपा के नेता अपने वर्करों में नयी ऊर्जा भरने फार्मूला इज़ाद करते नज़र आये भड़ास फॉर इंडिया को मिली जानकारी के अनुसार चुनावी पगडण्डी पर जाने से पहले भाजपा के अजय भट्ट अपनी राजनैतिक ढाल को मजबूत करने का प्लान तैयार कर रहे है यही नहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भाजपा उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार को किस तरह अभिमन्यु बनाया जाये इस पर भी मंथन करती नज़र आ रही है लेकिन वर्तमान मुख्यमंत्री हरीश रावत को भाजपा घेर पाने में विफल साबित हुई है राज्य में पहला अवसर रहा जब भाजपा के प्रदेश अद्यक्ष बनने के बाद पहली प्रदेश कार्यसमिति को देहरादून में न करके रामनगर में आयोजित किया गया बैठक में नेता प्रतिपक्ष के पद का मामला भी भाजपा के कुछ विधयाको ने बैठक में उठाया लेकिन इस मामले को लेकर कोई भी सकरात्मक फैसला नहीं हो सका वर्तमान में भाजपा के प्रदेश अद्यक्ष अजय भट्ट ही इस पद पर विराजमान है मार्च महा में शुरू हो रहे विधानसभा सत्र तक भाजपा को नया नेता प्रतिपक्ष के रूप में मदन कौशिक की ताजपोशी होने की संभावना है रामनगर भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में रविवार को मिशन 2017 की प्रारंभिक भूमिका बनी तो नेता प्रतिपक्ष को लेकर चल रही अटकलों को भी कुछ विराम मिल गया। यह साफ हो गया कि नेता प्रतिपक्ष पर फैसला दिल्ली में होगा। मिशन-2017 के लिए प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने खुद को अगुआ बता टीम को ‘हम सबके और सब हमारे’ पाठ पढ़ाया। इस मिशन की तैयारियों पर निगाह रखने के लिए राष्ट्रीय सह महामंत्री संगठन शिवप्रकाश, उत्तराखंड व दिल्ली के प्रभारी श्याम जाजू तथा राष्ट्रीय मंत्री त्रिवेंद्र रावत कार्यसमिति का खास हिस्सा बने। 1रामनगर के ढिकुली स्थित रिसोर्ट में अजय भट्ट की ताजपोशी के बाद पहली प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हुई। बंद कमरे में दो सत्रों में चली बैठक का पहला सत्र पार्टी के संगठनात्मक जिलों के जिलाध्यक्ष व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्यों के बीच परिचय से शुरू हुआ। पदाधिकारियों ने अपने अनुभव और विचारों को खुलकर रखा तो बात मिशन 2017 पर आकर ही खत्म भी हुई। टिकट की घोषणा समय पर करने की बात कार्यसमिति में उठी, जिससे प्रत्याशी को जीत सुनिश्चित करने के लिए क्षेत्र में जाने का पर्याप्त समय मिल सके। पदाधिकारियों ने जनचेतना रैली को सफल बताते हुए क्षेत्रवार ऐसे प्रयोग फिर करने की बात भी कही। प्रथम सत्र के बाद प्रदेश अध्यक्ष भट्ट व प्रभारी जाजू ने प्रेसवार्ता में भी 2017 पर फोकस करते हुए राज्य सरकार की नाकामी एवं केंद्र की उपलब्धियों का बखान किया। कार्यसमिति में नेता प्रतिपक्ष का नाम तय करने के सवाल पर अजय भट्ट ने इसे बैठक के एजेंडे से बाहर का विषय बताया। कहा कि 16 फरवरी को दिल्ली में पांचों सांसदों के साथ बैठक के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भी प्रदेश कार्यकारिणी का शिष्टमंडल मिलेगा।


Share

Leave a Comment

error: Content is protected !!