कांग्रेस के जयचंदो को लेकर देखो कैसे निकाली कांग्रेसी प्रत्याशियों ने भड़ास

Bhadas for India is a leading news portal of India with 15 years of media house experience in Dehradun, Uttarakhand.

Share

कांग्रेस के जयचंदो को लेकर देखो कैसे निकाली कांग्रेसी प्रत्याशियों ने भड़ास
देहरादून उत्तराखंड में कांग्रेसी नेतायो ने हार को लेकर अपने अपने तर्क दिए लेकिन कांग्रेस के जयचंदो पर कारवाही क्या होगी इस पर कोई अंतिम मोहर नहीं लग पायी महज अनुसाशन की कारवाही किये जाने तक बात निपट पायी प्रदेश में कांग्रेस की शर्मनाक हार के लिए पार्टी प्रत्याशियों ने भितरघातियों, चुनाव प्रबंधन और प्रचार सामग्री की कमी समेत रणनीतिक खामियों पर नाराजगी निकाली । पिछली सरकार में ओहदेदार और प्रदेश कांग्रेस में बड़े पदों पर बैठे नेता प्रत्याशियों के निशाने पर रहे। यह सहमति बनी कि पार्टी की हार के लिए जिम्मेदार रहे ऐसे नेताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने माना कि पार्टी प्रत्याशियों ने सीमित संसाधनों के साथ चुनाव लड़ा। वह पर्याप्त संसाधन मुहैया नहीं करा पाए। प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से शुक्रवार को 70 सीटों पर चुनाव लड़े 69 प्रत्याशियों की पार्टी मुख्यालय में बैठक बुलाई गई थी। दो सीटों हरिद्वार ग्रामीण और किच्छा से चुनाव लड़े पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय की मौजूदगी में हुई बैठक में विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार के कारणों पर मंथन हुआ।

बैठक में कांग्रेस के तकरीबन 35 प्रत्याशी मौजूद रहे। तकरीबन चार घंटे तक बंद कमरे में चली बैठक में प्रत्याशियों ने हार के लिए कमजोर चुनाव प्रबंधन और प्रचार सामग्री नहीं मिलने का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि पार्टी में असंतुष्टों ने प्रत्याशियों को हराने में ताकत झोंकी। अपनों की धोखेबाजी से उन्हें जूझना पड़ा।

पार्टी ने जिन्हें सरकार और संगठन में बड़े दायित्व का जिम्मा सौंपा, उन्होंने ही पार्टी की नींव कमजोर करने का काम किया। इसके चलते ही पार्टी को महज 11 सीटों पर संतोष करना पड़ा। प्रत्याशियों ने भितरघातियों पर सख्त कार्रवाई की पैरवी की।यह तय हुआ कि पार्टी को निराशा के इस दौर से उबरकर इसी वर्ष नगर निकाय चुनाव और फिर वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटना है। इस सिलसिले में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि जल्द कुमाऊं मंडल का दौरा किया जाएगा।बाद में मीडिया से बातचीत में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने चुनाव में संसाधन कम होने की बात स्वीकार की। उन्होंने कहा कि वह प्रत्याशियों को जरूरत के मुताबिक चुनाव संसाधन मुहैया नहीं करा पाए।


Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *